Tuesday, April 23, 2024
HomeDelhiMunicipal Corporations : तीनों नगर निगमों को एक करने की कवायद शुरू

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली :
Municipal Corporations : दिल्ली के तीनों नगर निगमों को एक करने की कवायद शुरू हो गई है। केंद्र सरकार ने उपराज्यपाल के माध्यम से राज्य चुनाव आयुक्त को पत्र भेज इस बारे में जानकारी दी, जिसके बाद आयोग ने चुनाव की तिथियों की घोषणा टाल दी है।

आयोग ने कहा है कि वह केंद्र सरकार के पत्र के मद्देनजर कानूनी सलाह ले रहा है, जिसके बाद चुनाव को लेकर एक सप्ताह में स्थिति स्पष्ट की जाएगी। इस बीच, प्रश्न यह भी है कि दिल्ली नगर निगम को तीन हिस्सों में बांटने की आवश्यकता क्यों पड़ी थी और अब तीनों हिस्सों को एक करने की क्या जरूरत है।

पूर्व सीएम शीला दीक्षित ने नगर निगम को तीन हिस्सों में बांटने के प्रस्ताव को दी थी मंजूरी Municipal Corporations

Municipal Corporations

तत्कालीन मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने दिल्लीवासियों को बेहतर नागरिक सुविधाएं मुहैया कराने की बात कहते हुए वर्ष 2011 में नगर निगम को तीन हिस्सों में बांटने के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी, जबकि अब भाजपा का मानना है कि निगम को तीन हिस्सों में बांटने से प्रशासनिक सुविधा तो हुई नहीं, बल्कि आर्थिक समस्याएं बढ़ गई हैं। इसके मद्देनजर वह तीनों निगमों को एक करने के पक्ष में है। (Municipal Corporations)

सामान्यतया ऐसा माना जाता है कि विकेंद्रीकरण आम जनता के हित में होता है। उससे लोगों की सुविधाएं बढ़ती हैं और उन्हें संबंधित विभाग से जुड़े कामकाज में आसानी होती है। हालांकि, यदि वर्तमान में तीनों नगर निगमों में काबिज भाजपा यह मानती है कि निगमों को तीन हिस्सों में करने का कोई लाभ नहीं हुआ है, बल्कि आर्थिक नुकसान हुआ है तो उसे एक करने की दिशा में आगे बढ़ना अनुचित भी नहीं है।

निगमों के एकीकरण से खर्चों में आएगी कमी Municipal Corporations 

दिल्ली के एकसमान विकास के लिए भी आवश्यक है कि एक ही एजेंसी समग्र रूप से पूरी दिल्ली के लिए नीतियां बनाए और उन्हें एकसमान इच्छाशक्ति से लागू कराए। इससे दिल्ली के किसी एक हिस्से के विकास की दौड़ में पिछड़ जाने की आशंका भी नहीं रहेगी।

यही नहीं, निगमों के एकीकरण से खर्चों में कमी आएगी, जिससे आर्थिक स्थिति भी सुधरेगी और कर्मचारियों को वेतन देने में समय-समय पर आने वाली परेशानी से बचा जा सकेगा। ऐसे में यदि यह तय कर लिया गया है कि निगमों को एकीकृत करना है तो यह काम तेजी से किया जाना चाहिए, ताकि चुनाव भी अधिक समय तक न टालने पड़ें और विकास की राह में कोई बाधा भी न पैदा होने पाए। (Municipal Corporations)

Also Read : 631 Could Not Complete Documents : 631 चयनित लोग ई-आटो लाइसेंस से जुड़े दस्तावेज नहीं कर पाए पूराhttps://indianewsdelhi.com/uncategorized/631-could-not-complete-documents/

Also Read : Fill The Challan First,Then There will be Insurance. पहले चालान भरो उसके बाद इंश्योरेंस होगा ।https://indianewsdelhi.com/delhi/fill-the-challan-firstthen-there-will-be-insurance/

READ MORE :Dedicated To Women’s Day : दिल्ली मेट्रो ने महिला यात्रियों के लिए शुरू की ईनामी योजना

Connect With Us : Twitter | Facebook 

SHARE
- Advertisement -
RELATED ARTICLES

Most Popular